पहली सीढ़ी, लक्ष्य दिवास्वप्न - first foot, Daydream

by 20:04 0 comments
जब तक आप पहली सीढ़ी पर पैर नहीं रखते हैं, तब तक लक्ष्य दिवास्वप्न होता है.
- मिथिलेश 'अनभिज्ञ'
Jab tak aap pahli seedhi par pair nahi rakhte hai, tab tak lakshy diwaswapn hota hai.
- Mithilesh 'Anbhigya'

As long as you are not the first foot on the ladder, then the goal is to daydream.
मिथिलेश के लेख  ||  "समाचार" ||  न्यूज वेबसाइट बनवाएं.सूक्तियाँ | छपे लेख | गैजेट्स | प्रोफाइल-कैलेण्डर

Mithilesh singh

Author, Journalist, Entrepreneur

मिथिलेश पिछले 6 साल से वेबसाइट, सोशल मीडिया के क्षेत्र में अपनी सेवायें दे रहे हैं। एक कलमकार के तौर पर लेख, कहानी, कविता इत्यादि विधाओं में निरंतर लेखन और समाज, परिवार के प्रति संवेदनशील विचार-मंथन उनकी प्रवृत्ति है। विभिन्न अख़बारों, पत्रिकाओं के संपादक-मंडल में अलग-अलग समय पर शामिल रहे हैं तो तकनीक के माध्यम को वह आज की लेखन दुनिया के लिए आवश्यक मानते हुए ब्लॉगिंग, सोशल मीडिया इत्यादि क्षेत्रों से साम्य बनाने में जुटे रहते हैं।

0 comments:

Post a Comment