भूल, लड़ाई अथवा अपराध - Punishment is must

by 15:17 0 comments
ऐसा कोई व्यक्ति नहीं जो भूल, लड़ाई अथवा अपराध के दौर से न गुजरा हो! मुश्किल तब आती है जब हम सुधार, सजा या प्रायश्चित से बचना चाहते हैं।
-मिथिलेश 'अनभिज्ञ'

मिथिलेश के लेख  ||  "समाचार" ||  न्यूज वेबसाइट बनवाएं.सूक्तियाँ | छपे लेख | गैजेट्स | प्रोफाइल-कैलेण्डर
** below content in english, using google translate only (no proof read) **

Do not forget that a person, not a period of war or crime has gone! Difficulty occurs when we improve, want to avoid punishment or atonement.
-mithilesh 'anbhigya'

aisa koee vyakti nahin jo bhool, ladaee athava aparaadh ke daur se na gujara ho! mushkil tab aatee hai jab ham sudhaar, saja ya praayashchit se bachana chaahate hain.
-mithilesh anabhigy

Mithilesh singh

Author, Journalist, Entrepreneur

मिथिलेश पिछले 6 साल से वेबसाइट, सोशल मीडिया के क्षेत्र में अपनी सेवायें दे रहे हैं। एक कलमकार के तौर पर लेख, कहानी, कविता इत्यादि विधाओं में निरंतर लेखन और समाज, परिवार के प्रति संवेदनशील विचार-मंथन उनकी प्रवृत्ति है। विभिन्न अख़बारों, पत्रिकाओं के संपादक-मंडल में अलग-अलग समय पर शामिल रहे हैं तो तकनीक के माध्यम को वह आज की लेखन दुनिया के लिए आवश्यक मानते हुए ब्लॉगिंग, सोशल मीडिया इत्यादि क्षेत्रों से साम्य बनाने में जुटे रहते हैं।

0 comments:

Post a Comment