विचार - Monopoly on Ideas

by 20:16 0 comments
माँ सरस्वती किसी एक की नहीं हैं, विचारों पर किसी का एकाधिकार नहीं है.
- मिथिलेश 'अनभिज्ञ'
Maa Saraswati kisi ek ki nahi hai, vicharon par kisi ka ekadhikar nahi hai.
- Mithilesh 'Anbhigya'
Goddess Saraswati are not of one, there is a not a monopoly on ideas.

मिथिलेश के लेख  ||  "समाचार" ||  न्यूज वेबसाइट बनवाएं.सूक्तियाँ | छपे लेख | गैजेट्स | प्रोफाइल-कैलेण्डर

Mithilesh singh

Author, Journalist, Entrepreneur

मिथिलेश पिछले 6 साल से वेबसाइट, सोशल मीडिया के क्षेत्र में अपनी सेवायें दे रहे हैं। एक कलमकार के तौर पर लेख, कहानी, कविता इत्यादि विधाओं में निरंतर लेखन और समाज, परिवार के प्रति संवेदनशील विचार-मंथन उनकी प्रवृत्ति है। विभिन्न अख़बारों, पत्रिकाओं के संपादक-मंडल में अलग-अलग समय पर शामिल रहे हैं तो तकनीक के माध्यम को वह आज की लेखन दुनिया के लिए आवश्यक मानते हुए ब्लॉगिंग, सोशल मीडिया इत्यादि क्षेत्रों से साम्य बनाने में जुटे रहते हैं।

0 comments:

Post a Comment