जरूरत और गूगल - Unnecessary Shopping and comparison

by 22:44 0 comments
मिथिलेश के लेख  ||  "समाचार" ||  न्यूज वेबसाइट बनवाएं.सूक्तियाँ | छपे लेख | गैजेट्स | प्रोफाइल-कैलेण्डर

खरीददारी से पहले अपनी 'जरूरत का आंकलन और गूगल का सदुपयोग' आपको निश्चित नुक़सान से बचाता है।
- मिथिलेश 'अनभिज्ञ'

Khariddari se pahle apni jaroorat ka aanklan aur google ka sadupyog aapko nishchit nuksaan se bachata hai.
- Mithilesh 'anbhigya'

 Unnecessary Shopping, comparison

Mithilesh singh

Author, Journalist, Entrepreneur

मिथिलेश पिछले 6 साल से वेबसाइट, सोशल मीडिया के क्षेत्र में अपनी सेवायें दे रहे हैं। एक कलमकार के तौर पर लेख, कहानी, कविता इत्यादि विधाओं में निरंतर लेखन और समाज, परिवार के प्रति संवेदनशील विचार-मंथन उनकी प्रवृत्ति है। विभिन्न अख़बारों, पत्रिकाओं के संपादक-मंडल में अलग-अलग समय पर शामिल रहे हैं तो तकनीक के माध्यम को वह आज की लेखन दुनिया के लिए आवश्यक मानते हुए ब्लॉगिंग, सोशल मीडिया इत्यादि क्षेत्रों से साम्य बनाने में जुटे रहते हैं।

0 comments:

Post a Comment